शायरी दर्द

Mixed Shayari Dard


पन्ना १

1.*✍🏻👉🏻मेरा❣साथ👫छोड़कर 😊दौलत वाले💰का हाथ💝थामा था तुमने👩*
*😎अब मैं👦रोज🎀इतनी दौलत 💵 कमाता😞हूँ,कि😍हर दिन🙁तुझे💞दौलत 💷 से😞तौल दूँ👈🏻✍🏻*❣💔💔
*




2.🍒 उन्होंने_मुझसे_कहा
🍒 आपकी_आँखे_बहुत_खुबसूरत_हैं
🍒 मैंने_कहा_ये
🍒 तेरा ख्वाब जो देखती_हैं...





3.*अब ☝🤔आवाज़ ☹आयीं तो😖 तुझे निकालकर 😅फेक दूंगा...*
*ऐ❤ दिल कहा🙄 ना सो😪 जा कोई 👸🏻नहीं है यहाँ 😒तेरा...*





4.#बारूद ☠ #जैसी ☝ है #मेरी_शक्सीयत, 👦
#जहाँ_से ☝ #गुजरता 🏃 हुँ, #लोग 👫 #जलना 🔥 #शुरू_कर 😏 #देते_हैं ।। 😏






5.#में 👦 फिरसे #दिल_लगा 💑 #बैठा हु #दोस्तों, 👫अगर #कामयाब 😍 हो #गया तो #दुआ 😘 है #आपकी, 😌
ओर #अगर ☝ फिर #टूट_जाउ 💔 तो #संभाल_लेना ।। 😌😌






6.मोहब्बत का महीना है साहेब......

गम की बात कर के गुस्ताखी कौन करे....




7.*ग़ज़ब है उनका हँस नज़रें जुका लेना*
*पूछो तो कहते हैं कुछ नहीं बस यूँ ही*😘




8.*हमको आता नहीं जख्मों की नुमाइश करना,*
*खुद ही रोते हैं तड़पते हैं और सो जाते हैं।।*




9.इश्क 💑 करने से पहले अंजाम ☝देख लो. 
 फिर भी 👉 समझ न आए तो.. 👤
 “गजनी” और “तेरे नाम”😵 देख लो..






10.*DíӀ Ƙɑ Ƙվɑ ƘɑՏմɾ*🐿
💉✍🏿... 💓बदनाम क्यों करते हो तुम इश्क़ को ,ए दुनिया वालों ,,,,
*मेहबूब तुम्हारा बेवफ़ा है तो इश्क़ का क्या कसूर 🔠📌*





11.💕☆★#देख 👀 *पगली*💃�हर #चीज़ 💤"एक"1⃣हद "तक"✨ *अच्छी*👌"लगती है☆★
.
#बस🚌 *एक*1⃣ #तू👩👈 है ☆★जो #हद 💤से #ज्यादा 💤 *अच्छी*👌👌"लगती"😘 hai 😉





12.❤Đ¡l *करता* है *Status*  📝 *डाल* दु 
तेरे 👱 🏻 *नाम* का........ 
पर *मुझे* 🙋 🏼 ये *अच्छा* नही👎🏽 *लगेगा* !
कि कोई 👰 👈 *तुझको* ☛ *£¡Ke*👍🏽 करे... 

✍✨⚜











13.पुछेगा अगर खुदा तो कहूँगी,,,, हाँ हूई थी मोहब्बत 
मगर जिसके साथ हूई वो उसके काबिल ना था।।. 😢😢
👌👍👍😢












14.उसने👧‪#‎इलज़ाम‬📄भी लगाया👆तो कितना‪#‎हसीन‬☺लगाया,,,...बोली🙋‪#‎सर‬,,,,👨,,...ये👦पुरी‪#‎क्लास‬📝में बस‪#‎मुझे‬👧ही देखता👀‪#‎रहता‬है..💏😍







15.💁‍♂मान 😞भी जा अब🙂 ऐ ❤दिल 
ये ♌ है आश्क़्क़ी 💑 सिर्फ बिंदास 🖥 चैनल पर ही अच्छी लगती है😉♈📈😔









16.'''    जिंदगी ने मेरे मर्ज़ का एक बढिया इलाज़ बताया ,   

           ''' वक्त को दवा कहा और मतलबियो का परहेज बताया...!!







17.*_😩माफ़ी गल्तियों😐की होती है ..धोखे😏की नहीं पर😎मेभी क्या करु😣मजबुर हु.._*    *_चल☝पेहली माफ😅करदी पर🤔ध्यान रखना✌दुसरी पे साफ🔪कर दुगा हना.👊._*
*#_*👉🏼😬👍🏼❗❗





18.गिरते रहे सजदों में हम अपनी ही हसरतों की खातिर..

अगर इश्क़-ऐ-खुदा में गिरे होते तो कोई हसरत अधूरी ना होती!






19.*💗💗बालकनी से बाहर आकर कर देखो ..ए-हसीना...*

*💗💗मौसम तुम से मेरे दिल की बात कहने आया है..!! 😘🌹*





20.*मुझे आजमाने वाले शख्स.*.
*तेरा शुक्रिया..*



*मेरी काबिलियत निखरी है.*
*तेरी हर आजमाइश के बाद.*❤❤





21.कब्रिस्तान में एक तख्ती पर क्या खूब लिखा था

"पढ़ ले दुरूद किसी के लिए
कल तू भी तरसेगा इसी के लिए""





Subscribe करें share करें

Comments