Shayari , हिंदी शायरी , Hindi shayari , attitude status , whatsapp status , funny jokes , good morning message

शायरी

हिंदी शायरी Shayari Message


पाँचवा पन्ना
मेरे -मुस्कुराते- चेहरे- को- देख- तुम मुझे -क्या
समझोगे ,
मुझे -तो -वो -नही- समझ- पाया- जिसने- मुझे
मुस्कुराना- सिखाया...!!.💛❤💕💓💗 
_____________________________________________
यूँ तो ए ज़िन्दगी तेरे सफर से शिकायते बहुत थी,
💕💕
मगर दर्द जब दर्ज कराने पहुँचे तो कतारे बहुत थी !!____________💕
_____________________________________________
पर्दे ना बचा पायेंगें घर की आबरू,
💕💕
💕💕
सुना है इस दौर में हवाओं की नियत भी खराब है !!
___________________💕
_____________________________________________
*"बहुत ही आसान है, ज़मीं पर...*
*आलीशान मकान बना लेना...*

*दिल में जगह बनाने में ...*
*ज़िन्दगी गुज़र जाया करती है..!!!"* _____________________________________________ 
दौर वह आया है की कातिल की सज़ा कोई नहीं,
💕💕
💕💕
हर सज़ा उसके लिए है जिसकी खता कोई नहीं !!___________________💕
_____________________________________________
इतना करीब न आओ की जज्बात काबू में न रहे....
   जरा फासला बना के रखिये जनाब ये जवानी का दौर है।।
_____________________________________________
✪⇉अकेला🚶छोड़ दो मुझे या फिर मेरे ☞ हो 😘 जाओ ••

👉 यूँ मुझे 😒 पसन्द नहीं ❌ 
कभी पाना और कभी खोना...

*ज़मीर काँपता जरूर है, आप कुछ भी कहो ज़नाब....!!*
*कभी गुनाह से पहले, कभी गुनाह के बाद....!!*
_____________________________________________
गुस्ताख़ आँखें बेअदबी निग़ाहें..
ज़नाब इतनी बेफ़िक्री भी ठीक नही।।
_____________________________________________
*❣❣सोचा था कि मिटाकर सारी निशानी तेरी, चैन से सो जायेंगे ।*

*बंद आँखो ने अक्स देखा तेरा, तो बेचैन दिल ने पुकारा तुझको ।🌹👈
_____________________________________________
*ऐ परिंदे!!*
*यूँ ज़मीं पर बैठकर क्यों*
*आसमान देखता है..*
*पंखों को खोल , क्योंकि,*
*ज़माना सिर्फ़ उड़ान देखता है!*
_____________________________________________
जख्म खरीद लाया हूँ इश्क ए बाजार से,
दिल जिद कर रहा था की मुझे मोहब्बत चाहिये...!!!
_____________________________________________
नसशील  _तु माझ्या  _नशीबात 
म्हणुन मी
का  हार_मानू...??
 आता तर...
अजुन  जास्त_प्रेम करणार तुझ्यावर
 नशीबाला ही  बदलावे लागेल 
 माझं_प्रेम
पाहून...!!
_____________________________________________
मगरूर नहीं हूँ बस ❝ दूर ❞ हो गया हूँ मैं,
उन ❝ लोगों ❞ से जिन्हें मेरी ❝ कदर ❞ नहीं है..
_____________________________________________
माझे हाथ कधीच दुखत नाहीत, जेव्हा मी मेसेज
टाईप करतो "तुझ्यासाठी"
पण माझे हृदय मात्र नेहमी दुखते,
जेव्हा रिप्लायच येत नाही तुझा,
"माझ्यासाठी
_____________________________________________
*काश हमे भी मिल जाती कोई वफा करने वाली*
🔜
*तो आज हम यु शायरी न करते*
*सार्थक*
_____________________________________________
जिसके चेहरे में तल्खी हो और निगाहों में शिकन..
ऐसी तसवीर के टुकड़े नहीं जोड़ा करते..
_____________________________________________
बड़ा ही ज्ञान होता हैं उनके पास..
जिन्हें हासिल नही हुआ कुछ भी..
_____________________________________________
मी नाही पिंपळाच्या पानासारखा जो अकाली गळून पडेन,मी आहे मेहंदिच्या पानासारखा जो स्वत:ला कुस्करुन तुझ्या आयुष्यात रंग भरेन....
_____________________________________________
लहू बेच-बेच कर जिसने परिवार को पाला..
बो भूखा सो गया जब बच्चे कमाने वाले हो गए..
_____________________________________________
जो मौत से ना डरता था,बच्चोँ से डर गया..
एक रात जब खाली हाथ मजदूर घर गया..
_____________________________________________
वो शायर भी क्या अजीब था, रोते रोते हंस देता था! 
महज चंद लफ्जों में, जाने क्या कुछ लिख देता था,

हम दो लाइन सुनाने को, क्या कहते
वो पागल, निकाल के कलेजा रख देता था....
_____________________________________________
मोहब्बत☆ कितनी☆ भी ☆सच्ची ☆क्यों☆ ना ☆हो, एक ☆ना☆ एक ☆ दिन☆तो ☆
आंसू☆ और☆ दर्द ☆ज़रूर☆ देती☆haii
_____________________________________________
‪‎कुछ लोग‬👫 ये‪ ‎सोचकर‬😌भी‪ ‎मेरा हाल‬👦 नहीं‪ पूछते‬,
कि ये‪, दीवाना‬😍 फिर‪ ‎कोई_शायरी‬📝न‪ कर दे..!!
_____________________________________________
मिट्टी का बना हूँ, महक उठूँगा...
बस तू एक बार बेइँतहा ‘बरस’ के तो देख।।
_____________________________________________
ज़हर से ज्यादा ख़तरनाक होती है मोहब्बत...
साला जरा-सा कोई चख ले तो वो मर-मर के जीता है।।
_____________________________________________
बहारों में तो सब आते हैं..  
       तुम पतझड़ में आ कर मुझे बसंत कर दो।।
_____________________________________________
आज उसने हमें एक और दर्द दिया तो हमें याद आया की...
दुआओं में हमने ही तो उसके सारे दर्द मांगे थे।।

No comments:

Post a Comment