Shayari , हिंदी शायरी , Hindi shayari , attitude status , whatsapp status , funny jokes , good morning message

Saturday, 4 February 2017

Love Shayari

Love Shayari In Hindi


*अमीर*अमीर वो नही होते*

*जिनके सर हीरों से जड़े होते है••*
*अमीर वो होते है••* 
*जो  ""दिलो "" से जुड़े होते है•....*
_____________________________________________
हम तो आगाज-ए-मोहब्बत में ही लुट गए..
लोग तो कहते ही थे के अंजाम बुरा होता है..
_____________________________________________
" जी लो हर लम्हा , बीत जाने से पहले....!
लौट कर यादें आती है, वक़्त नहीं...!!
...✍♡💕 "
_____________________________________________
*अपने उसूल .....कभी यूँ भी तोड़ने पड़े,,,,*
*खता उसकी थी .....हाथ मुझे जोड़ने पड़े......*
_____________________________________________
नाम छोटा है मगर✋ दिल❤ बङा रखता 😎हु पैसो💵 से ऊतना अमीर नही😔 हु, मगर✋ अपने दोस्तों👬 के गम खरीद ने की हैसियत रखता😎 हूं
_____________________________________________
*सिमटते जा रहे हैं दिल और ज़ज्बातों के रिश्ते .....*
*सौदा करने में जो माहिर है बस वही कामयाब है....*
_____________________________________________
*😎HUM तो वो है जो💕 प्यार βhI करते है और 😠गुस्सा βhi करते है...!!!*f
*βUT तेरे बिना रेह नहीं सकते 😔जो भी करते है तेरे लिये करते है...!!!*👰🏻👈🏼😘😇❤
_____________________________________________
✻↬ जिन्दगी में 〰मंजिले ~~तो मिल ही जाती हैं ~,✻~बस वो लोग नहीं मिलते ✻जिन्हें ⇛इस💞 दिल💞 ने चाहा हो ..
_____________________________________________
प्यार को कहते हैं रब की इबादत है,
क्युँ भला इज़हार
से डरते हैं लोग,
हालात को काबू करने को कहते
हैं,
जब की किसी का नहीं है इस दिल पे ज़ोर.❣❣
_____________________________________________
💔वो लोग भी ‪‎अजनबी‬ हो गये जो कभी कहते थे की.. उन्हे हमारी आदत सी हो गयी..!!💔
_____________________________________________
*सुना है, नफरत की दुकान खोल रहे हो…*
*थोड़ी मोहब्बत भी रख लेना दिखावे के लिये….😌☝🏻*
_____________________________________________
*मैं 🙆 खुद हैरान 🙅हु की तुझसे ♥इतनी 😎मोहब्बत😘 क्यू है मुझे,....!!*
*जब भी💏 प्यार 💘शब्द आता है चेहरा😍 तेरा 👸ही याद🌹 आता है......!!*👯
_____________________________________________
❔ क्यु 😁 #नाराज़ होते हो 😍 #मेरी इन 😲 #नादान 😘 #हरकतों से...
कुछ ✋ #दिन की 💞 #जिन्दगी है फिर 💔 चले #जायेंगे 😍 हम 👸👈 तेरे इस 💏 #जहाँ से...
_____________________________________________
*एक रास्ता यह भी है,*
*मंजिलों को पाने का,*

*कि सीख लु मैं भी हुनर,*
*''हाँ में हाँ '' मिलाने का*
_____________________________________________
मिट्टी का बना हूँ, महक उठूँगा...
बस तू एक बार बेइँतहा ‘बरस’ के तो देख।।

ज़हर से ज्यादा ख़तरनाक होती है मोहब्बत...
साला जरा-सा कोई चख ले तो वो मर-मर के जीता है।।
_____________________________________________
बहारों में तो सब आते हैं..  
       तुम पतझड़ में आ कर मुझे बसंत कर दो।।
_____________________________________________
आज उसने हमें एक और दर्द दिया तो हमें याद आया की...
दुआओं में हमने ही तो उसके सारे दर्द मांगे थे।।
_____________________________________________
नींद से जाग कर आस-पास ढूंढ़ता हूँ तुम्हें...
क्यूँ ख्वाब में इतने पास आ जाती हो तुम।।
_____________________________________________
तड़पते है नींद के लिए तो यही दुआ निकलती है...
बहुत बुरी है मोहबत किसी दुश्मन को भी न हो।
_____________________________________________
जो जितना दूर होता है नज़रो से,
उतना ही वो दिल के पास होता है,
मुस्किल से भी जिसकी एक ज़लक देखने को ना मिले,
वही ज़िंदगी मे सबसे ख़ास होता है…
_____________________________________________
नज़र को नज़र की खबर ना लगे,
कोई अच्छा भी इस कदर ना लगे,
आपको देखा है बस उस नज़र से,
जिस नज़र से आपको नज़र ना लगे…
_____________________________________________
पल कितने भी गुज़ार लूँ तेरी बाहों में,
हर सांस यही कहती है कि दिल
नहीं भरा ! 
_____________________________________________
💔महफ़िल में कुछ तो सुनाना पड़ता है,,,,
ग़म छुपा कर मुस्कुराना पड़ता है,,,,
कभी हम भी उनके अज़ीज़ थे,,,,
आज-कल ये भी उन्हें याद दिलाना पड़ता है,,,,,💔
_____________________________________________
ना जाने मुहब्बत में कितने अफसाने बन जाते है शमां जिसको भी जलाती है वो परवाने बन जाते है कुछ हासिल करना ही इश्क कि मंजिल नही होती किसी को खोकर भी कुछ लोग दिवाने बन जाते है ..!!!
_____________________________________________
💔कभी करीब तो कभी जुदा था तू;,,,  
जाने किस-किस से ख़फ़ा है तू;
मुझे तो तुझ पर खुद से ज्यादा यकीन था;,,,,,
पर ज़माना सच ही कहता था कि बेवफ़ा है तू,,,,,💔
_____________________________________________
शायद फिर वो तक़दीर मिल जाये
जीवन के वो हसीं पल मिल जाये
चल फिर से बैठें वो क्लास कि लास्ट बैंच पे
शायद फिर से वो पुराने दोस्त मिल जाएँ ।
_____________________________________________
💔रोज़ रोते हुए कहती है ये ज़िंदगी मुझसे,,,,सिर्फ एक शख्स कि खातिर मुझे बर्बाद मत कर,,,,💔

No comments:

Post a Comment