Bewafa Shayari

बेवफा शायरी हिंदी


1. भूल जाना हमे एक गुमनाम शायर समझ कर...!!

वरना मेरी शायरी के लफ्ज़ तुझे सुकून- ए-चैन नहीं बकसेगे...!! (Hindishayar.com)


2. आँखों को इंतज़ार की भट्टी पे रख दिया
मैंने दिये को आँधी की मर्ज़ी पे रख दिया

आओ तुम्हें दिखाते हैं अंजामे-ज़िंदगी
सिक्का ये कह के रेल की पटरी पे रख दिया

फिर भी न दूर हो सकी आँखों से बेवगी
मेंहदी ने सारा ख़ून हथेली पे रख दिया

दुनिया क्या ख़बर इसे कहते हैं शायरी
मैंने शकर के दाने को चींटी पे रख दिया

अंदर की टूट -फूट छिपाने के वास्ते
जलते हुए चराग़ को खिड़की पे रख दिया

घर की ज़रूरतों के लिए अपनी उम्र को
बच्चे ने कारख़ाने की चिमनी पे रख दिया

पिछला निशान जलने का मौजूद था तो फिर
क्यों हमने हाथ जलते अँगीठी पे रख दिया (Hindishayar.com)


3. *कुसूर किसीका भी हो,*
.
.
*पर आँसूं हमेशा बेकुसूर के ही होते है.....* (Hindishayar.com)


4. शिकायत है उन्हें कि, हमें मोहब्बत करना नही आता, शिकवा तो इस दिल को भी है, पर इसे शिकायत करना नहीं आता. (Hindishayar.com)


5. *दुश्मनों को ,कैसे ख़राब कह दूँ मैं ,,,*
*वो ही तो है ,जो हर महफ़िल में मेरा नाम लेते है।।* (Hindishayar.com)


6. *मिट्टी का मटका और मित्रों की कीमत*

*सिर्फ बनाने वाले जानते है तोड़ने वाला नही*☝❤ (Hindishayar.com)


7. कभी आंसू तो कभी ख़ुशी देखी, हमने अक्सर मजबूरी और बेकसी देखी.. उनकी नाराज़गी को हम क्या समझें, हमने तो खुद अपनी तकदीर की बेबसी देखी.. (Hindishayar.com)


8. शौकीन तो बहुत सी चीज़ों का हूँ,
.
लेकिन सारे शौक एक तरफ़, तुम एक तरफ़...🇮🇳🌹 (Hindishayar.com)


9. *कभी -कभी एहसास के जमीं पर कलम भी चलती नहीं दिल कहता तो बहुत कुछ है, पर ये ज़ुबान हिलती नहीं* *🙋🏻‍♂* (Hindishayar.com)


10. मौत माँगते है तो जिन्दगी खफा हो जाती है,
जहर लेते है तो वो भी दवा हो जाती है,
तू ही बता ऐ दोस्त क्या करूँ,
जिसको भी चाहा वो बेवफा हो जाती है... (Hindishayar.com)

Comments